Type of Information System for digital business in Hindi for online -class notes for B.tech , MBA Degree

Type of Information system in Hindi

किसी भी institution, organization और company की ग्रोथ उसके information system पे निर्भर करती है ।
एक information system department (ISD) जितना मजबूत होगा organization का future growth भी उतना ही स्ट्रांग होगा । पिछली post में हमने इनफार्मेशन सिस्टम के बारे में डिटेल से बात की थी उसपे class notes भी provide किये थे । जिनका link में नीचे दे रही हूँ यहाँ से आप इसको पढ़ रकते हैं ।

what is information system?

इनफार्मेशन सिस्टम क्या है ?


आज हम इनफार्मेशन सिस्टम के types और इसके classification के बारे में बात करेंगे। Information system को मुख्य रूप से 4 प्रकार  से classify किया जाता है । ये classification management के 4 level ( top, senior, Middle, lower) के आधार पे होता है ।

Notes - level of management को हम अपनी next post में डिटेल से discuss करेंगे ।

upcoming post - level of management 

 Type of Information System:

Information system mainly four types के होते है ।

  • Executive Information System (EIS)
  • Decision support System ( DSS)
  • Management Information System(MIS)
  • Transaction Processing System (TPS )

Transaction Processing System (TPS):

यह इनफार्मेशन सिस्टम की सबसे पहली और basic क्रिया है । जो की प्रतिदिन के business operation का लेखा जोखा तैयार करती है । Transaction processing system अर्थात् लेनदेन की प्रक्रिया की सूचना संग्रहित करने वाला सिस्टम। TPS, organization और company में होने वाले सभी लेनदेन की डिटेल्स को एक report फॉर्म में सभालता है। अर्थात् TPS प्रणाली का मुख्य कार्य यह है कि लेनदेन का प्रोसेस करे। किसी भी organization में प्रतिदिन के सभी transaction को TPS दवारा ही संचालित किया जाता है 

TPS, business के daily कार्यों की रिकॉर्डिंग के लिए उपयोग किए जाने वाले लोगों ,उत्पादों, software, database और devices का एक संगठित संग्रह है।
डेटा Integrity, डेटा की availability और  fast processing, इसकी की मुख्य विशेषतायें हैं ।

Some Example of TPS:

  • Withdrawal of money from Bank.
  • Ticket booking in railway 
  •  Billing process of electricity bill
  • Inventory Summary In Business etc..

component of TPS:

  • People
  • Software
  • Hardware
  • Procedure

Management Information system :

 Middle management के दवारा decision लेने के लिए MIS का प्रयोग किया जाता है । Tactical managers company या organization की  वर्त्तमान performance की monitoring करने के लिए इसका प्रयोग करते हैं । 
साथ ही में MIS का प्रयोग किसी भी organization में सूचना के कंट्रोल और इन सूचनाओं को विभिन्न departmental स्तर पर  coordinate करने के लिए भी किया जाता है ।
MIS का प्रयोग आवश्यक निर्णय लेने के साथ साथ सूचना के आदान प्रदान , सुचना के नियंत्रण और विश्लेषण के लिए भी किया जाता है ।
 MIS में transaction processing system प्राप्त output को input(data) के रूप में प्रयोग किया जाता है । MIS से प्राप्त इनफार्मेशन को company और organization के tactical manager analyze कर के भविष्य की performance को predict करते हैं ।

MIS का ultimate goal यह है की वो business की  finance value और profit को बढ़ाने में मदत करे ।

Component of MIS:

  • Data
  • Business Producer
  • Hardware and Software

Decision Support System (DSS):

 DSS एक येसा information system है जो business और organizational से जुड़े विशेष निर्णयों को लेने में मदत करता है। इसका प्रयोग senior management के दवारा decision लेने के लिए किया जाता है । DSS 
 user- friendly और highly interactive होता है । और इसका प्रयोग senior management के दवारा problems को solve करने के लिए किया जाता है । decision support system या तो पूरी तरह से computerized हो सकता है या फिर मानव संचालित हो सकता है या फिर इन दोनों का कॉम्बिनेशन्स भी हो सकता है।
DSS,  TPS और MIS से प्राप्त सूचना को input ( data) के रूप में प्रयोग करता है ।

Component of decision support system:

  • Database
  • Model
  • Interface

Some Application of DSS:

  • Product pricing
  • production plan
  • marketing strategies
  • finance decision 

Executive Information system (EIS): 

इसको executive support system भी कहा जाता है । क्योंकि ये टॉप management के लिए बनाया जाता है । इसका प्रयोग upper (top) management के द्वारा किया जाता है । upper management company के benefits के लिए सारे निर्णय executive information system से प्राप्त डाटा के आधार पे लेती है । यह DSS का ही विशिट रूप है ।
EIS, data या information को अपने में संग्रहित करता है फिर इस डाटा को analyze कर के एक report बनता है । ये report  database में save की जाती हैं । ये database computer में excel और MS- word फाइल में save कर के रखी जाती हैं ।  EIS डेटा को  analyze करने के लिए विशेष टूल्स का प्रयोग करता है । इसमें डाटा को analyze करने के लिए graphical display का उपयोग किया जाता है । इससे आसानी से समझा जा सके, इसके लिए easy-to-use users interface का प्रयोग किया जाता है।

Related Post



अंत में एक निवेदन: 

गर आप को ये स्टडी मटेरियल उपयोगी लगा हो तो इसे लाइक और शेयर जरूर करें। यदि पसंद ना आया हो तो प्लीज़ कमेंट्स के दवारा बताएं कि, मैं इसमें और क्या सुधार कर सकती हूँ । आप का मार्गदर्शन मेरे लिए बहुमूल्य है। 


Note: Other information will be provided along with the class notes of B.Tech, M.C.A and M.B.A degree courses in the page section of this blog - "Class Notes for Students". Such as certificate course, seminar, conference, job vacancy etc.


Comments

Post a Comment

Popular posts from this blog

The list of top 5 search engine in India In 2019 in Hindi-(लिस्ट ऑफ टॉप 5 सर्च इंजन इन 2019 इन इंडिया इन हिंदी)

what is cyber security and its importance in Hindi for digital marketing in online business -( Easy class notes on cyber security)

How dose search Engine work in Hindi and English for your website for Digital marketing -(सर्च इंजन कैसे कार्य करता है )